शिव गायत्री मंत्र

शिव गायत्री मंत्र

|| ॐ तत्पुरुषाय विद्‍महे, महादेवाय धीमहि तन्नोरुद्र: प्रचोदयात् ||

शिव गायत्री मंत्र का जाप अकाल मृत्यु से बचाता है। जिनकी कुंडली में काल सर्पयोग, राहु-केतु, शनि पीड़ा आदि हो उसे भी यह मंत्र राहत दिलाता है। प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवनकाल में इस महामंत्र का जाप अवश्य करना चाहिए। इसके जाप से मानसिक शांति, कीर्ति और समृद्धि मिलती है। गायत्री मंत्र शिव की आराधना शक्ति है। शिव के साथ गायत्री का जाप सरल और शुभफलदायी है। ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्र: प्रचोदयात् ।